माशाया के मरासिम

मैं वहीं हूँ मैं जहां हूँ, या, मैं वहाँ भी नहीं हूँ मैं जहां हूँ। मैं ख़यालों में हूँ, मैं सवालों में हूँ , बदलों से ऊँची उड़ानो में हूँ , क़िस्से में हूँ, कहानियों में हूँ , चर्च के पीछे और , साड़ी की दुकानो में हूँ । तस्वीर में, मुस्कुराहट में, गीत में,…
Read more


February 28, 2020 0